Gharse Nikal Te Hi Lyrics| Armaan Malik
  • Song : Gharse Nikal Te Hi
  • Singer : Armaan Malik
  • Music : Amaal Malik
  • Lyrics : Kunaal Verma

Gharse Nikal Te Hi Lyrics|Armaan Malik In English

Ghar Se Nikalte Hi
Kuch Door Chalte Hi
Raste Mein Hai UskaGhar

PehliDafa Maine
Jab UskoDekhaTha
SaanseinGayi Ye Thahar

Rehti Hai Dil Mein Mere
KaiseBataau Use
Main ToNahiKeh Saka
Koi Bata De Use

UskiGali
Mein Hain Dhali
Kitni Hi Shaamein Meri
DekheKabhi
Vo Jo Mujhe
Khush Hu Main Itne Me Hi
Maine Tarike
Sau Aajmaaye
Jaake Use Na
KuchBolPaaye
BaitheRahe Hum RaatBhar
Jo PaasJaata Hu
Sab BhoolJaata Hu
Milti Hai Jab Ye Nazar

Kal Jo Mile
Vo Raahon Mein
To Main Use Rok Lu
UskeDil Mein
Kya Hai Chupa
EkBaar Main Puch Lu
Par Ab Wahaan Vo
RehtiNahi Hai
Maine Suna Hai
Vo JaaChuki Hai
KhaaliPada Hai Ye Shahar

Main PhirBhiJaata Hu
Sab Dohraata Hu
Shayad Mile Kuch Khabar

Gharse Nikal Te Hi Lyrics|Armaan Malik In Hindi

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

पहली दफ़ा मैंने
जब उसको देखा था
सांसें गयी ये ठहर

रहती है दिल में मेरे
कैसे बताऊँ उसे
मैं तो नहीं कह सका
कोई बता दे उसे

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

उसकी गली में है ढली
कितनी ही शामें मेरी
देखे कभी वो जो मुझे
खुश हूँ मैं इतने में ही

मैंने तरीके सौ आजमाए
जाके उसे ना कुछ बोल पाये
बैठे रहे हम रात भर

जो पास जाता हूँ
सब भूल जाता हूँ
मिलती है जब ये नज़र

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

कल जो मिले वो राहों में
तो मैं उसे रोक लूं
उसके दिल में क्या है छिपा
इक बार मैं पूछ लूं

पर अब वहाँ वो रहती नहीं है
मैंने सुना है वो जा चुकी है
खाली पड़ा है ये शहर

मैं फिर भी जाता हूँ
सब दोहराता हूँ
शायद मिले कुछ खबर

हो.. हम्म..

घर से निकलते ही
कुछ