• Song : Jaadu Hai Nasha Hai
  • Movie : Jism
  • Music : M M Kareem
  • Lyrics : Neelesh Misra, Sayeed Quadri
  • Singer : Shreya Ghoshal

Jadu Hai Nasha Hai | Lyrics | shreya Ghoshal In English

Jaadu Hai Nasha Hai
Madhoshiyaan…
Tujhko Bhulake Ab Jaun Kahaan
Jaadu Hai Nasha Hai
Madhoshiyaan…
Tujhko Bhulake Ab Jaun Kahaan
Dekhti Hai
Jis Tarah Se…
Teri Nazrein Mujhe
Main Khud Ko Chupaun Kahaan
Jaadu Hai Nasha Hai
Madhoshiyaan…
Tujhko Bhulake Ab Jaun Kahaan
Dekhti Hai
Jis Tarah Se…
Teri Nazrein Mujhe
Main Khud Ko Chupaun Kahaan
Jaadu Hai Nasha Hai
Madhoshiyaan…
Tujhko Bhulake Ab Jaun Kahaan
Yeh Pal Hai Apna
Toh Iss Pal Ko Jeelein
Sholon Ki Tarha
Zara Chal Ke Jeelein
Pal Jhapakte
Kho Na Jaana
Chuke Karlun… Yakin
Na Jaane Pal Ye Paaye Kahaan
Jaadu Hai Nasha Hai
Madhoshiyaan…
Tujhko Bhulake Ab Jaun Kahaan
Baahon… Mein Teri
Yun Kho… Gaye Hain
Armaan… Dabe Se
Jagne… Lage Hain
Jo Mile Ho
Aaj Hum Ko
Door Jaana… Nahin
Mitado Saari Ye Duriyaan
Jaadu Hai Nas
ha Hai
Madhoshiyaan…
Tujhko Bhulake Ab Jaun Kahaan
Dekhti Hai
Jis Tarah Se…
Teri Nazrein Mujhe
Main Khud Ko Chupaun Kahaan

Jadu Hai Nasha Hai | Lyrics | shreya Ghoshal In Hindi

जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ
देखती है जिस तरह से तेरी नज़रें मुझे
मैं खुद को छुपाऊँ कहाँ
जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ

ये पल है अपना तो इस पल को जी लें
शोलों की तरहा जरा जल के जी लें
पल झपकते खो ना जाना
छूके कर लूं यकीँ
ना जाने पल ये पायें कहाँ
जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ

बाहों में तेरी यूं खो गये हैं
अरमाँ दबे से जगने लगे हैं
जो मिले हो आज हम को
दूर जाना नहीं
मिटादो सारी ये दूरीयाँ
जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ
देखती है जिस तरह से तेरी नज़रें मुझे
मैं खुद को छुपाऊँ कहाँ

जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ
शमा तुझको खींचती है आजा
परवाने मेरी बाहों में आ
जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ

कुछ भी ना समझेए कुछ भी ना माने
दिल कर रहा है कितने बहाने
तुम को देखे तुम को चाहे
इस तरह से कभी
हम ने किसी को चाहा कहाँ
जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ

लो थाम लो ये लम्हों के धागे
हम चल पडे हैं सपनों के आगे
रस्ता ये है कठिन पर इस सफ़र में कभी
न होंगी कोई अब दूरीयाँ
जादू है नशा है मदहोशीयाँ
तुझको भूलाके अब जाऊँ कहाँ
शमा तुझको खींचती है आजा
परवाने मेरी बाहों में आ