Kuchh Aisi Karani Kar Pyare Lyrics in Hindi | Nirankari Songs
Kuchh Aisi Karani Kar Pyare Lyrics in Hindi | Nirankari Songs

Kuchh Aisi Karani Kar Pyare Lyrics in Hindi | Nirankari Songs

कुछ ऐसि करनी कर प्यारे ये जनम ना बारम्बार मिले

माया तो बहोत मिल जायेगी गुरु ऐसा ना बारम्बार मिले ll 0 ll

एक एक वस्तु से प्यार किया, किया प्यार कभी ना ईश्वर से

तु जनम जनम से बिछडा है, अपने ही पिता परमेश्वर से

मुक्ति तेरे द्वारे बैथि है जो सतगुरु से ईक बार मिले

माया तो बहोत मिल जायेगी गुरु ऐसा ना बारम्बार मिले ll 1 ll

क्यु भरम ने तुझको घेरा है, कुछ तेरा है ना मेरा है

सामान बटोरा बरसो क, जग चिडीया रैन बसेरा है

तेरा क्या तु क्यु सोच रहा चाहे जित चाहे हार मिले

माया तो बहोत मिल जायेगी गुरु ऐसा ना बारम्बार मिले ll 2 ll

गुरु कि करुणा अब तुझपे हुई, जो साथ गुरु का पाया है

गुरु कि क्रिपा से मन मे तेरे ये ग्यान का दीप जलाया है

खुद अर्जुन को दे मुक्ति तु गुरु क्रिश्न का बन अवतार मिले

माया तो बहोत मिल जायेगी गुरु ऐसा ना बारम्बार मिले ll 3 ll